Bounce Rate Kya Hai और Bounce Rate Ko Kam Kaise Kare?

Bounce Rate Kya Hai Aur Bounce Rate Ko Kam Kaise Kare_TechnicalGear.info

Bounce Rate Kya Hai >> Blog बनाने का मकसद जो भी हो हर कोई यही चाहता है, की उसकी वेबसाइट या Blog मैं बोहोत सारे Visitors रोज Visit करे, और उसके Website में जो भी Blog या Post हैं उसे पूरा पढ़े . तोह Bounce Rate का मतलब हैं की, आपकी वेबसाइट में रोज कितना Visitors आ रहा हैं, और वोह कितना देर तक आपकी Website में Stay कर रहा हैं, अगर कोई आपकी Website में Visit किया, और वोह आपकी पोस्ट या blog को ज्यादा देर तक नहीं पढ़ा और चला गया दूसरा वेबसाइट पर, इसका मतलब आपका Website का Bounce Rate ज्यादा हो रहा हैं.
तोह चलिए और भी Details में जानते हैं, यह Bounce Rate Kya Hai & Bounce Rate Ko Kam Kaise Kare?

Bounce Rate एक Ranking Factor हैं, जो Help करता हैं Google में अपनी Website को Rank कराने के लिए

आपके Blog पर रोज ही नए Visitors आते होंगे, कुछ Google Result से, तोह कुछ Social Media से, और कुछ तो Referral Link से, पर उनमे से कुछ ही Visitors होते हैं जो की आपकी वेबसाइट पर ज्यादा देर तक रुकता हैं, और वोह फिरसे कभी आपकी Website पर Revisit करता हैं .

Bounce Rate उन Visitors का Percentage होता हैं, जो आपकी Blog पर आते तोह हैं, पर बिना किसी Page या लिंक पर Click किये वोह आपकी Website से तुरंत ही लौट जाते हैं . मतलब Visitor आया और तुरंत ही चला गया इसे ही Bounce रेट कहा जाता हैं, यह जितना ज्यादा होगा, उतना ही आपकी Website के लिए खराप होगा और जितना कम होगा, उतना अच्छा.

इसे भी पढ़े हिंदी में >> कंप्यूटर के प्रकार (Types of Computer in Hindi)

Bounce Rate High होने का Top Reasons यह हैं 👇

  • Website का Design अच्छा ना होना
  • Website का Loading Time ज्यादा होना
  • डिजाईन Responsive ना होना
  • Post में जानकारी की कमी
  • आसान सब्दो में, Blog या Post को ना लिखना etc…

Website का Bounce Rate कैसे पता करे?

Google Analytics, गूगल का एक ऐसा Product है, जिसका इस्तेमाल करके हम आसानी से अपने Visitors के बारे में पता लगा सकते हैं, जैसे की- किस Country से किनते Visitors आ रहे हैं?, कितना Page Views हो रहा हैं?, Visitors कितना देर तक Website पर रुक राहा हैं? और Website का Bounce Rate कितना है जैसी बोहोत सी जानकारी पता लगा सकते हैं. मेरे हिसाब से हर एक Blogger को Google Analytics use करना चाहिए, जो की एकदम FREE हैं.

Google Analytics को Use कैसे करे ?

इसको Use करने के लिए आपको सबसे पहेले इस Link पर जाना होगा और अपने Gmail Account से इसमें Login करना पड़ेगा. Login करने के बाद आपके सामने इस तरह का Interface होगा 👇

google-analytics-01-technicalgear.info

इन्हा आपको पहेला Option WEB को Select करना होगा, और Continue button पर Click करना होगा 👆

इन्हा आपको अपने Website का नाम, URL, Industry Type और Time ज़ोन को Select करके Create Button पर Click करना होगा . इसके बाद आपके सामने इस तरह का Interface होगा 👇

इन्हा पर आपको एक HTML Code मिलेगा, जिसको आपको अपने Website में <Head> से </Head> tag के बिच में Paste करके Save करना होगा. इसके लिए आपको अपना Theme को Edit करना होगा और <Head> tag को Search करके उसके निचे इस Code को Paste करके Theme को Save कर देना होगा .

Google Analytics को Blogger में कैसे ADD करे ?

Steps >> Open Blogger Dashboard >> Themes >> Click on Three Dot >> Edit HTML

Google Analytics को Blogger में कैसे ADD करे?

Google Analytics को WordPress में कैसे ADD करे ?

Steps >> Dashboard >> Appearance >> Theme Editor >> Header.php

Google Analytics को WordPress में कैसे ADD करे?

Google Analytics की HTML Code को Place करने के बाद, आप अपनी Website का सभी Details को बोहोत ही आसानी से Access कर पाएंगे.

इसे भी पढ़े हिंदी में >> SSD kya hai? और इसे क्यों लेना चाहिए?

Website का bounce रेट कितना होना चाहिए ?

अगर Website का Bounce Rate ३५% जे ज्यादा हैं, तोह आपको थोड़ा सा Serious होने की जरुरत हैं, क्यूंकि आपकी Visitors किसी ना किसी वजह से आपकी Site पर आ कर लौट के जा रहे हैं, जो की बिल्कुल भी अच्छी बात नहीं हैं

अगर Bounce Rate ५०% से भी ज्यादा हैं तोह यह घबराने बाली बात हैं, और आपको इसे तुरंत FIX करने में लग जाना चाहिए

Website पर Visitors को लाने में बोहोत सारा मेहनत लगता हैं, और अगर वोह Website पर रुके ही नहीं तोह हमारी मेहनत बेकार चला जाता हैं . इसीलिए जितना मेहनत आप Website पर Visitors लाने के लिए करते हैं, उतनी ही मेहनत Visitors को Website पर बनाये रखने के लिए करना होगा.

Bounce Rate Ko Kam Kaise Kare?

1. बढ़िया Web Design:

आपका visitors कोई Web Designer नहीं है, फिर भी उन्हें अच्छे और बुरे Web Design के बारे में पता होता है,
अगर Website का Design Attractive होगा तोह आपके वेबसाइट में ज्यादा से ज्यादा Visitors आने की Chance’s होंगे, इसीलिए आपको एक अच्छा सा Theme को Choose करना पड़ेगा और उसे Customize करके Attractive बनाना होगा, और ध्यान रखे Website में आंख में चुबने बाली कोई भी Colors का इस्तेमाल ना करे

2. बेहतरीन Content:

आप जो भी Topic के ऊपर आप Post लिख रहे हैं, आपको उस Topic के ऊपर Full Information देकर उस पोस्ट को लिखना होगा, ताकि Visitors को पूरी जानकारी मिले और उसे दूसरी कोई Website में जाना ना पड़े. पोस्ट में आसान सब्दो का इस्तेमाल करे, ताकि Visitors को समझ ने में कोई दिक्कत ना हो.

3. Multimedia का इस्तेमाल:

आप जो पोस्ट लिख रहे हैं, उसको और Interesting बनाने के लिए, आपको Paragraph के बिच में उस पोस्ट से Related Images, GIF, Audio, Videos का इस्तेमाल करना होगा. इससे Visitors को आपकी Post को समझने में आसानी होती हैं

4. Loading Time कम करे:

Website की Loading Time बोहोत ही जरुरी होता हैं Bounce Rate कम करने के लिए, Wait करना कोई भी पसंद नहीं करता हैं, अगर आपका Website जलती load नहीं होगा, तोह Visitors आपकी वेबसाइट पर Visit नहीं करेंगे और Close कर देंगे. इसलिए इस बात का ध्यान रखे की आपका Website Fast Load हो

5. Interlinking करना:

Interlinking का मतलब हैं, आपको Post में जहाँ भी Possible हो, उन्हा आपकी दूसरी Posts का लिंक Share करना, इससे आपको उस पोस्ट के साथ साथ दूसरी पोस्ट में भी traffic मिलता हैं, उदाहरण सरूप अगर में कोई SEO के ऊपर Post लिख रहा हूँ तो उन्हा मुझे SEO से Related दूसरा कोई पोस्ट की लिंक को Share करना होगा, इससे Visitors ज्यादा देर तक Website पर बने रहेते हैं .

6. Keywords का सही चुनाब:

Website में सही Keywords का होना बोहोत जरुरी हैं, अगर अपने सही Keywords का इस्तेमाल किया तोह आप तक सही Visitors पोहोंच पाएंगे, Post में Keywords को सही तरह से इस्तेमाल करना होगा, Keywords का इस्तेमाल आपको Title, Subheading, और Paragraph में सही तरह से करना चाहिए. यह भी एक Ranking Factor होता हैं google मो पोस्ट को Rank करने के लिए.

7. User Friendly होना:

User Friendly का मतलब है की, आपकी पोस्ट का जो Format हैं, वोह पढ़ने में आसान हो, Website की जो Menu हो वोह Clear हो, ताकि अगर कोई दूसरा Category में जाना चाहे, तोह वोह आसानी से जा पाए.

8. Mobile Friendly होना:

Website का Responsive होना, यानि इसे हर एक Device और हर एक Browser में सही तरह से Open होना जरूरी हैं. क्यूंकि २०१४ के बाद से ज्यादातर User मोबाइल के Through Website’s को Browse करते हैं, इसीलिए यह अभी बोहोत जरुरी हो गया है की आपकी Website मोबाइल में अछी तरह से Open हो, और User को कोई दिक्कत की सामना करना ना पड़े Browse करते समय. अगर आपका वेबसाइट Mobile में Mobile App जैसा और Computer में कंप्यूटर जैसा open होगा, तोह User को ज्यादा आसानी होगा Browse करने में और समझने में. तोह हर समय यह कोसिस करे की आप जो Theme Use करते हैं उसमे Mobile के लिए अलग Interface और Computer के लिए अलग Interface का Feature हो , मतलब Mobile Friendly हो. और यह भी एक Ranking Factor हैं, Google में अपने Website को Rank कराने के लिए.

9. ज्यादा Words के Article:

Post को लम्बा लिखे, और ध्यान रखे Paragraph छोटा ही लिखे. ज्यादा बार आर्टिकल को पढना किसी को पसंद नहीं हैं, लेकिन अगर आप उसी Article को Break करके लिखे तोह वोह देखने में भी अच्छा लगेगा, और उसे पढ़ने में भी Visitors को आसानी होगी. Article 500-600 words का होना जरुरी हैं, पर इसका मतलब यह नहीं हैं की आर्टिकल को छोटा लिखे, आप आर्टिकल को जितना बरा लिख सकते हैं लिखे, लेकिन ध्यान रखे Article का हर एक Point Clear होना चाहिए, ताकि उसे समझने में आसानी हो, लोक पूरा पढ़े

10. पहेला Paragraph सही से लिखे:

जब भी आप Article लिखे, तब उसमे जितना जल्दी हो सके यह Clear करे की आप उस Article में क्या क्या Discus करने बाले हैं, ताकि Visitors को यह पता चल जाये की उन्हें इस Article में क्या क्या जानकारी मिलेगा, और Visitors यह Decide कर पायें की उन्हें यह आर्टिकल पढ़ना है की नहीं.

11. Comment Section का उपयोग:

जब भी आप मेहनत करके कोई Post को लिख रहे हैं तो Paragraph के Last में यह Request करे की Visitor को यह Post कैसा लगा, यह वोह Comment Section में Comment करके बताएं. इससे आप यह जान पाएंगे की User को आपकी पोस्ट अच्छा लगा की नहीं और Article में अगर कुछ सुधार करना होगा तोह वोह भी पता चल जायेगा. Example के रूप में आप हमारे Article के Last को देख सकते हैं >>

Conclusion on Bounce Rate Kya Hai? & Bounce Rate Ko Kam Kaise Kare?🙏

उम्मीद करता हूँ आपको मेरी यह Article Bounce Rate Kya Hai & Bounce Rate Ko Kam Kaise Kare? जरूर पसंद आया होगा। में हमेसा कोसिस यह करता हूँ की Readers को हर एक Article आसानी से समझ आये, हमने इस पोस्ट में भी Bounce Rate Kya Hai & Bounce Rate Ko Kam Kaise Kare? के बारे में समझाने की कोसिस की हैं, में कोसिस यह करता हूँ की एक आर्टिकल में ही आपकी हर एक डाउट को क्लियर कर सके।

यदि आपके इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ और सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप निचे हमे comment में लिख सकते हैं.

यदि आपको यह post Bounce Rate Kya Hai & Bounce Rate Ko Kam Kaise Kare? पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Google+ और Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

धन्यवाद! आपका दिन शुभ हो | भारत माता की जय | जय श्री राम 🔥

Bijoy Goswami
में एक Professional Blogger हूँ, और में 2016 से Blogging कर रहा हूँ. में इस Blog की माध्यम से अपना Experiance आप लोगो तक शेयर करने की कोसिस करूँगा, ताकि मुझे Blogging करते समय जो मुशकिलो की सामना करना परा था वोह आप लोगो को करना ना पड़े. तोह चलिए Blogging करते हैं & बोहोत सारा पैसा कमाते हैं 🤘